28 December, 2016

नशीली आँखों की शायरी in hindi image


आँखों में आंसुओं की लकीर बन गयी;
जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गयी...!!!
हमने तो सिर्फ रेत में उंगलियाँ घुमाई थी;
गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गयी...!!

No comments:

Post a Comment