Best Dosti Shayari in Hindi-2017



न जाने क्यूँ हमें आँसू बहाना नहीं आता....!!!
न जाने क्यूँ हाले दिल बताना नहीं आता....!!!
क्यूँ सब दोस्त बिछड़ गए हमसे....!!!
शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता....!!!


‪‎दोस्त अब क्या लिखूं तेरी ‪‎तारीफ में....!!!
बड़ा ‪‎खास है तू मेरी ‪‎जिंदगी में....!!!



नफरत को हम प्यार देते है....!!!
प्यार पे खुशियाँ वार देते है....!!!
बहुत सोच समझकर हमसे कोई वादा करना....!!!
ऐ दोस्त हम वादे पर ज़िन्दगी गुजार देते है....!!!


दिन हुआ है तो रात भी होगी....!!!
हो मत उदास कभी बात भी होगी....!!!
इतने प्यार से दोस्ती की है....!!!
जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी....!!!



क्या कहे कुछ कहा नही जाता....!!!
दर्द मीठा है पर रहा नही जाता....!!!
दोस्ती हो गई इस कदर आपसे....!!!
बिना याद किये बिना रहा नहीं जाता....!!!



दोस्ती वो नहीं होती....!!! जो जान देती है...!!!
दोस्ती वो नही होती जो मुस्कान देती है...!!!
दोस्ती तो वो होती है
जो दोस्ती को प्यार का नाम देती हैं....!!!



वक्त की यारी तो हर कोई करता है मेरे दोस्त....!!!
मजा तो तब है....!!!....!!!
जब वक्त बदल जाये पर यार ना बदले....!!!




तू दूर है मुझसे और पास भी है....!!!
तेरी कमी का एहसास भी है....!!!
दोस्त तो हमारे लाखो है इस जहाँ में....!!!
पर तू प्यारा भी है और खास भी है....!!!

सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो....!!!
करके यकीं मुझ पे मेरे पास आके देखलो....!!!
बदलता नहीं कभी सोना अपना रंग....!!!
जितनी बार दिल करे आग लगा कर देखलो....!!!


हजारों दोस्त बन जाते है जब धन पास होता है....!!!
टूट जाता है गरीबी में जो रिश्ता ख़ास होता है....!!!



दोस्त आपकी दोस्ती का क्या खिताब दे....!!!
करते है इतना प्यार की क्या हिसाब दे....!!!
अगर आपसे भी अच्छा फूल होता तो ला देते....!!!
लेकिन जो खुद गुलदस्ता हो उसे क्या गुलाब दे....!!!



दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है...!!!
दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है...!!!
दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है...!!!
पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो...!!!
तो इतिहास बनाती है....!!!




खुश हूँ और सबको खुश रखता हूँ....!!!
लापरवाह हूँ फिर भी सबकी परवाह...!!!
करता हूँ....!!!....!!!
मालूम है कोई मोल नहीं मेरा....!!!
फिर भी....!!!
कुछ अनमोल लोगो से
दोस्ती रखता हूँ....!!!

सवाल पानी का नहीं ....!!! सवाल प्यास का है...!!!
सवाल सांसो का नहीं ....!!! सवाल मौत का है...!!!
दोस्त तो दुनिया में बहुत मिलते है...!!!
सवाल दोस्ती का नहीं ....!!! सवाल ऐतवार का है...!!!




हमने अपने नसीब से ज्यादा....!!!
अपने दोस्तो पर भरोसा रखा है....!!!
क्यूँ की नसीब तो बहुत बार
बदला है....!!!....!!!....!!!
लेकिन मेरे दोस्त अभी भी वही है....!!!




सादगी अगर हो
लफ्जो में यकीन मानो....!!!
प्यार बेपनाह....!!!
और दोस्त बेमिसाल
मिल ही जाते हैं ....!!!




मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता....!!!
कुछ रिश्तों का कोई तोल नहीं होता....!!!
लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर लेकिन....!!!
हर कोई आपकी तरह अनमोल नहीं होता....!!!



रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी....!!!
दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी....!!!
जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा....!!!
उसे ज़िंदगी से कोई और शिकायत क्या होगी....!!!


अपनी ज़िंदगी के कुछ अलग ही उसूल हैं....!!!
दोस्ती की खातिर हमें काँटे भी क़बूल हैं....!!!
हँस कर चल देंगे काँच के टुकड़ों पर भी....!!!
अगर दोस्त कहे यह दोस्ती में बिछाये फूल हैं....!!!



दोस्ती दर्द नहीं खुशियों की सौगात है....!!!
किसी अपने का ज़िंदगी भर का साथ है....!!!
ये तो दिलों का वो खूबसूरत एहसास है....!!!
जिसके दम से रौशन ये सारी कायनात है....!!!



ज़िंदगी के तूफानों का साहिल है दोस्ती....!!!
दिल के अरमानों की मंज़िल है दोस्ती....!!!
ज़िंदगी भी बन जाएगी अपनी तो जन्नत....!!!
अगर मौत आने तक साथ दे दोस्ती....!!!



होंठों पे उल्फत के फ़साने नहीं आते....!!!
जो बीत गए फिर वो ज़माने नहीं आते....!!!
दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द....!!!
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते....!!!



दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं....!!!
पर दोस्ती के मामले में सच्चे हैं....!!!
हमारी सच्चाई बस इस बात पर कायम है....!!!
कि हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे हैं....!!!


हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ ....!!!
अपना प्यार और दोस्ती तेरे नाम कर दूँ ....!!!
मिल जाये अगर दुबारा यह ज़िन्दगी दोस्त....!!!
हर बार मैं ये ज़िन्दगी तुझ पर कुर्बान कर दूँ ....!!!





हंसी छुपाना किसी को गवारा नहीं होता....!!!
हर मुसाफिर ज़िन्दगी का सहारा नहीं होता....!!!

मिलते है लोग इस तनहा ज़िन्दगी में पर....!!!
हर कोई दोस्त तुमसा प्यारा नहीं होता ....!!!




दोस्त समझते हो तो दोस्ती निभाते रहना....!!!
हमें भी याद करना खुद भी याद आते रहना....!!!
हमारी तो हर ख़ुशी दोस्तों से ही है....!!!
हम खुश रहें या ना आप यूँ ही मुस्कुराते रहना....!!!



किस हद तक जाना है ये कौन जानता है....!!!
किस मंजिल को पाना है ये कौन जानता है ....!!!

दोस्ती के दो पल जी भर के जी लो....!!!
किस रोज़ बिछड जाना है ये कौन जानता है ....!!!



इश्क़ और दोस्ती मेरी....!!!....!!!....!!!

इश्क़ और दोस्ती मेरी
ज़िन्दगी के दो जहाँ है....!!!

इश्क़ मेरा रूह तो
दोस्ती मेरा ईमान है....!!!

इश्क़ पे कर दूँ फ़िदा
अपनी सारी ज़िन्दगी....!!!

मगर दोस्ती पे तो
मेरा इश्क़ भी कुर्बान है ....!!!



हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही....!!!
दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही....!!!
हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं....!!!
पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं....!!!




लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता....!!!
शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता ....!!!

किस्मत वालों को ही मिलती है पनाह किसी के दिल में....!!!
यूं हर शख़्स को तो जन्नत का पता नहीं मिलता ....!!!

अपने सायें से भी ज़यादा यकीं है मुझे तुम पर....!!!
अंधेरों में तुम तो मिल जाते हो....!!! साया नहीं मिलता ....!!!

इस बेवफ़ा ज़िन्दगी से शायद मुझे इतनी मोहब्बत ना होती
अगर इस ज़िंदगी में दोस्त कोई तुम जैसा नहीं मिलता ....!!!....!!!




सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप....!!!
तारीफ कभी पुरी ना हो इतने प्यारे हो आप....!!!

आज पता चला जमाना क्यों जलता है हमसे....!!!
क्यों कि दोस्त तो आखिर हमारे हो आप....!!!



दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते यारो....!!!
एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना....!!!....!!!....!!!



हम वो फूल हैं जो रोज़ रोज़ नहीं खिलते....!!!
यह वो होंठ हैं जो कभी नहीं सिलते....!!!
हम से बिछड़ोगे तो एहसास होगा तुम्हें....!!!
हम वो दोस्त हैं जो रोज़ रोज़ नहीं मिलते....!!!

कुछ सितारों की चमक नहीं जाती....!!!
कुछ यादों की खनक नहीं जाती....!!!
कुछ लोगों से होता है ऐसा रिश्ता....!!!
कि दूर रहके भी उनकी महक नहीं जाती....!!!



ज़िन्दगी में किसी मोड़ पर खुद को तन्हा न समझना....!!!
साथ हूँ मैं आपके खुद से जुदा मत समझना....!!!
उम्र भर आपसे दोस्ती करने का वादा किया है....!!!
अगर जिंदगी साथ न दे तो हमें बेवफा मत समझना....!!!




No comments:

Post a Comment