Girlfriend Boyfriend and Husband Wife Shayari 2017


जन्नत मैं सब कुछ हैं मगर मौत नहीं हैं .....!!!.....!!! 
धार्मिक किताबों मैं सब कुछ हैं मगर झूट नहीं हैं 
दुनिया मैं सब कुछ हैं लेकिन सुकून नहीं हैं 
इंसान मैं सब कुछ हैं मगर सब्र नहीं हैं.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये .....!!!.....!!! 
तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये कई बार 
पुकारा इस दिल मैं तुम्हें और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


एक अजीब सा मंजर नज़र आता हैं … 
हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं कहाँ 
रखूं मैं शीशे सा दिल अपना .....!!!.....!!! 
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


करीब इतना रहो कि रिश्तों मैं प्यार रहें … 
दूर भी इतना रहो कि आने का इंतज़ार रहे .....!!!.....!!! 
रखो उम्मीद रिश्तों के दरमियान इतनी कि 
टूट जाएँ उम्मीदें मगर रिश्तें बरक़रार रहें …??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


चंद रुपयों मैं बिकता हैं यहाँ “इंसान का ज़मीर” 
कौन कहता हैं मेरे देश मैं महंगाई बहुत हैं


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


मैंने अपनी हर एक सांस तुम्हारी गुलाम कर रखी हैं .....!!!.....!!! 
लोगो मैं ये ज़िन्दगी बदनाम कर रखी हैं .....!!!.....!!! 
अब ये आइना भी क्या काम का मेरे … 
मैंने तौ अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर रखी हैं ….....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


​हमने ये शाम चराग़ों से सजा रक्खी है;​​ ​
आपके इंतजार में पलके बिछा रखी हैं; ​
हवा टकरा रही है शमा से बार-बार;​​ 
​और हमने शर्त इन हवाओं से लगा रक्खी है.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



तुझे मुहब्बत करना नहीं आता ……??
मुझे मुहब्बत के सिवा कुछ और नहीं आता ….....!!!
 ज़िन्दगी गुजारने के बस दो ही तरीके हैं ….....!!! 
एक तुझे नहीं आता .....!!!.....!!! और एक मुझे नहीं आता .....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

साथ नहीं रहने से रिश्ते नहीं टूटा करते ….....!!!.....!!! 
वक़्त की धुंध से लम्हे नहीं टूटा करते हैं ….....!!! 
लोग कहते हैं कि मेरा सपना टूट गया ….....!!! 
टूटती सिर्फ नींद हैं ...?? सपने कभी टूटा नहीं करते ….....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


कोई दीवाना कहता है...?? कोई पागल समझता है ….....!!!.....!!! ! 
मगर धरती की बेचैनी को...?? बस बादल समझता है……!! 
मैं तुझसे दूर कैसा हूँ ...?? तू मुझसे दूर कैसी है…….....!!!! 
ये तेरा दिल समझता है...?? या मेरा दिल समझता है…??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये ….....!!!.....!!! 
जीवन के वो हसीं पल मिल जाएँ… 
चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे….....!!! 
शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ ….....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

तेरी आवाज़ की शहनाइयों से प्यार करते हैं….....!!!.....!!! 
तस्सवुर मैं तेरे तन्हाईओं से प्यार करते हैं ….....!!!.....!!! 
जो मेरे नाम से तेरे नाम को जोड़े ज़माने वाले …??
अब हम उन चर्चों से अब प्यार करते हैं …??


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



ना मिलता गम तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते ….....!!! 
दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहाँ जाते ….....!!!.....!!! 
चलो अच्छा हुआ अपनों मैं कोई ग़ैर तो निकला….....!!! 
सभी अगर अपने होते तो बेगाने कहाँ जाते ……?


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



रोया है बहुत तब जरा करार मिला है; 
इस जहाँ में किसे भला सच्चा प्यार मिला है; 
गुजर रही है जिंदगी इम्तिहान के दौर से; 
एक ख़तम तो दूसरा तैयार मिला है.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


मोहब्बत से खफा तुम भी...?? 
मोहब्बत से खफा हम भी नहीं तुझमे जफ़ा कुछ भी...?? 
नहीं मुझमे जफ़ा कुछ भी मगर कहते रहे मजबूर से हम 
इस मोहब्बत में बड़े हो बेवफ़ा तुम भी ...?? बड़े है बेवफा हम भी


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


याद रूकती नहीं रोक पाने से ….....!!!.....!!! 
दिल मानता नहीं किसी के समझाने से … 
रुक जाती हैं धड़कनें आपके भूल जाने से ….....!!!.....!!! 
इसलिए आपको याद करते हैं जीने के बहाने से …



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


अपने लफ़्ज़ों से चुकाया है किराया इसका...?? 
दिलों के दरमियां यूँ मुफ्त में नहीं रहती...?? 
साल दर साल मै ही उम्र न देता इसको...?? 
तो ज़माने में मोहब्बत जवां नहीं रहती…?/



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


मोहब्बत ने हम पर ये इल्ज़ाम लगाया हैं .....!!!.....!!! 
वफ़ा कर के बेबफा का नाम आया हैं ….....!!!
 राहें अलग नहीं थी हमारी फिर भी ….....!!!.....!!!
 हम ने अलग अलग मंज़िल को पाया हैं


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


ज़िन्दगी हसीन है ...?? ज़िन्दगी से प्यार करो ….....!!!.....!!! 
हो रात तो सुबह का इंतज़ार करो ….....!!!.....!!! 
वो पल भी आएगा...?? जिस पल का इंतज़ार हैं आपको….....!!! 
बस रब पर भरोसा और वक़्त पे ऐतबार करो ….....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नही; 
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नही; 
गुनाह हो यह ज़माने की नजर में तो क्या; 
यह ज़माने वाले कोई खुदा तो नही!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


सदियों से जागी आँखों को एक बार सुलाने आ जाओ; 
माना कि तुमको प्यार नहीं...?? नफ़रत ही जताने आ जाओ; 
जिस मोड़ पे हमको छोड़ गए हम बैठे अब तक सोच रहे; 
क्या भूल हुई क्यों जुदा हुए...?? बस यह समझाने आ जाओ


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


मत ज़िकर कीजिये मेरी अदा के बारे में; 
मैं बहुत कुछ जानता हूँ वफ़ा के बारे में;
 सुना है वो भी मोहब्बत का शोक़ रखते हैं; 
जो जानते ही नहीं वफ़ा के बारे में.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


कोई शायर तो कोई फकीर बन जाये;
 आपको जो देखे वो खुद तस्वीर बन जाये; 
ना फूलों की ज़रूरत ना कलियों की; 
जहाँ आप पैर रख दो वहीं कश्मीर बन जाये.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दर्द हैं दिल मैं पर इसका ऐहसास नहीं होता … 
रोता हैं दिल जब वो पास नहीं होता….....!!!.....!!! 
बरबाद हो गए हम उनकी मोहब्बत मैं ….....!!! 
और वो कहते हैं कि इस तरह प्यार नहीं होता ……??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎
जब भी तेरे बिना रात होती हैं ….....!!!.....!!! 
दीवारों से अक्सर बात होती हैं ………
 सन्नटा पूछता हैं हमारा हाल हम से …… 
और बस तेरे नाम से ही शुरुआत होती हैं ….....!!!.....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


कोई रूठा हुआ शक्स आज बहुत याद आया 
एक गुजरा हुआ वक़्त आज बहुत याद आया 
छुपा लेता था जो मेरे दर्द को अपने सीने 
मैं आज फिर दर्द हुआ तो बहुत याद आया

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


मर जाऊं मैं अगर तो आंसू मत बहाना??
 बस कफ़न की जगह अपना दुपट्टा चढ़ा देना ….....!!!.....!!! 
कोई पूछे की रोग क्या था …??
तो सर झुका कर मोहब्बत बता देना …??


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



जिंदगी भर दर्द से जीते रहे .....!!!.....!!! 
दरिया पास था आंसुओं को पीते रहे.....!!!.....!!! 
कई बार सोंचा कह दू हाल-ए-दिल उससे.....!!!.....!!! 
पर न जाने क्यूँ हम होंठो को सीते रहे.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


ज़िन्दगी से बस यही गिला हैं ख़ुशी के बाद क्यूँ गम मिला हैं …
 हमने तो उनसे वफ़ा की थी … 
पर नहीं जानते थे कि ……….....!!! 
वफ़ा के बेवफाई ही सिला हैं ……??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


अपनी बेबसी पर आज रोना सा आया.....!!!.....!!!.....!!!! 
दूसरों को नहीं मैंने आपको को आज़माया.....!!!.....!!!
हर दोस्त की तन्हाई दूर की मैंने.....!!!.....!!!
मगर खुद को हर मोड़ पैर तनहा ही पाया .....!!!.....!!!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“ओस की बूंदे है...?? आंख में नमी है...?? 
ना उपर आसमां है ना नीचे जमीन है 
ये कैसा मोड है जिन्‍दगी का जो लोग खास है उन्‍की की कमी हैं.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“ए पलक तु बन्‍द हो जा...?? 
ख्‍बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी 
इन्‍तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगी कम से 
कम रात तो खुशी से कट जायेगी ”


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


नुमाइश में बहुत भीड थी | 
एक साहब एक महिला से कहने लेगे – 
माफ कीजिए मैं कुछ देर आपसे बातें करना चाहता हूं | 
महिला – इससे आपको क्या लाभ होगा | 
साहब – दरअसल मेरी पत्नी खो गई है वह मुझे आपसे बातें करते हुए 
देखेगी तो गोली की तरह यहां पहुंच जाएगी..??


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


लम्हा लम्हा सांसें ख़तम हो रही हैं .....!!!.....!!! 
ज़िंदगी मौत के पहलू में सौ रही है .....!!!.....!!! 
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह .....!!!.....!!! 
वो तो ज़माने को दिखाने के लिए रो रही है.....!!!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


संगीत सुनकर ज्ञान नहीं मिलता ! 
मंदिर जा कर भगवान नहीं मिलता !! 
पत्थर तो इसलिए पूजते हैं लोग ! 
क्यूँ कि विश्वास के लायक इंसान नहीं मिलता !!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“बिन देखे तेरी तस्‍वीर बना सकते हैं 
बिन मिले तेरा हाल बना सकते है 
हमारे प्‍यार में इतना दम है की
 तेरे आसूं अपनी ऑख से गिर सकते हैं 



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“हंसी ने लबों पर थ्रिकराना छोड दिया ख्‍बाबों ने 
सपनों में आना छोड दिया नहीं आती अब 
तो हिचकीया भी शायद आपने भी याद करना छोड’ दिया ”

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“दीवाने है तेरे नाम के इस बात से इंकार नहीं 
कैसे कहे कि तुमसे प्‍यार नहीं कुछ तो कसूर है 
आपकी आखों का हम अकेले तो गुनहगार नहीं.....!!!.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


आपकों प्‍यार करने से डर लगता है 
आपकों खोने से डर लगता है कहीं आखों से 
गुम ना हो जाये याद अब रात में सोने से डर लगता है.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


किसी के दिल मैं बसना बुरा तो नहीं … ??
किसी को दिल मैं बसाना खता तो खता तो नहीं … ??
है...?? ये ज़माने के नज़र मैं बुरा तो क्या हुआ .....!!!.....!!! 
ज़माने वाले भी इंसान हैं कोई खुद तो नहीं

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



“ए दोस्‍त तेरी दोस्‍ती ये नाज करते है 
हर बकत मिलने की फरियाद करते है
 हमें नही पता घरवाले बताते है के 
हम नीदं में भी आपके बात करते हैं ”


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


“जिन्‍दगी की राहों में बहुत से यार मिलेगें 
हम क्‍या हमसे भी अच्‍छे हजार मिलेगें इन 
अच्‍छों की भीड में हमे ना भूला देना 
हम कहॉ आपको बार बार मिलेगें 


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दिल  का  रिश्ता  है  हमारा दिल  के  कोने  में  नाम  है  
तुम्हारा हर  याद  मैं  है  चेहरा  तुम्हारा हम  साथ 
 नहीं  तो  क्या  हुआ ज़िन्दगी  भर  प्यार  निभाने  का  वादा  है  हमारा  ….....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


किस्मत  पर  एतबार  किसको  हैं मिल  जाये  
खुसी  इंकार  किसको  हैं कुछ  मजबूरिय  हैं  
मेरे  दोस्त वरना  जुदाई  से  प्यार  किसको  हैं


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दिल से निकली हे दुआ हमारी जिन्दगी में 
मिले आपको खुशिया गम न दे खुदा आपको 
कभी चाहे तो एक ख़ुशी कम कर ले हमारी

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


उनका भी कभी हम दीदार करते है 
उनसे भी कभी हम प्यार करते है 
क्या करे जो उनको हमारी जरुरत न थी 
पर फिर भी हम उनका इंतज़ार करते है !



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


हम वो नहीं जो दिल तोड़ देंगे...?? 
थाम कर हाथ साथ छोड़ देंगे...?? 
हम दोस्ती करते हैं पानी और मछली की तरह...?? 
जुदा करना चाहे कोई तो हम दम तोड़ देंगे …??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


हमारे बिन अधूरे तुम रहोगे...?? 
कभी चाहा था किसी ने...??तुम ये खुद कहोगे...?? 
न होगे हम तो किसी ने ...??तुम ये खुद कहोगे...?? 
मिलेगे बहुत से लेकिन कोई हम सा पागल ना होगा.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


प्यार करने वालो की किस्मत ख़राब होती हैं 
 हर वक़्त इन्तहा की घड़ी साथ होती हैं 
 वक़्त मिले तो रिश्तो की किताब खोल के देखना 
दोस्ती हर रिश्तो से लाजवाब होती हैं 

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दुनिया भर कि याद मैं हमें न भुला देना ……??
आये जब याद हमारी थोडा सा मुस्करा देना … /
ज़रूर मिलेगें हम अगर ज़िंदा रहें … ??
याद मैं हमारी दीवाली का एक “दिया”  जला देना ”
 दीवाली कि हार्दिक शुभ कामनाएं “

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



आज से ही आपके यहाँ धन की बरसात हो; 
माँ लक्ष्मी का वास हो...?? संकटों का नाश हो;
 हर दिल पर आपका राज हो; उन्नति का सर पर ताज हो; 
और घर में शांति का वास हो.....!!! !शुभ धनतेरस!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


इस धनतेरस कुछ खास हो …… 
दिलों मैं खुशियां ...?? घर मैं सुख का वास हो ….....!!!.....!!!
 हर मोती पर आपका ताज़ हो … मिटे दूरियां ...?? 
सब आपके पास हो ….....!!! ऐसा धनतेरस आपका खास हो ….....!!!.....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



सोने का रथ...?? चांदनी की पालकी; 
बैठकर जिसमें है माँ लक्ष्मी आई; 
देने आपको और आपके पूरे परिवार को; 
धनतेरस की बधाई!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दीप जले तो रोशन आपका जहान हो; 
पूरा आपका हर एक अरमान हो; 
माँ लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहे आप पर;
इस धनतेरस पर आप बहुत धनवान हों! शुभ धनतेरस!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


आज से ही आपके यहाँ धन की बरसात हो; 
माँ लक्ष्मी का वास हो...?? संकटों का नाश हो;
 हर दिल पर आपका राज हो; उन्नति का सर पर ताज हो;
 और घर में शांति का वास हो! शुभ धनतेरस!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



पलकों के किनारे हमने भिगोये ही नहीं ….....!!!
वो सोचते हैं कि हम रोये ही नहीं …….....!!! 
वो पूछते हैं कि ख्वाबों मैं किसे देखते हो….....!!!.....!!! 
हम हैं कि एक उम्र से सोये ही नहीं …??/



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


इस शुभ अवसर को खुशी...?? 
प्यार और शांति से भरा दिल के साथ मनाते हैं.....!!!
 सौंदर्य और दिए की रौशनी अनंत ख़ुशी आपके जीवन 
और दिल को भर दे ! दीपावली मुबारक हो आपको!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


जीवन की खुशियों के खातिर मिलकर चलो...?? 
ले स्नेह प्रण दिपोत्सव को बना दो सार्थक हर 
दिल में दीप प्रज्वलित कर……….....!!!.....!!! 
दीपावली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


त्यौहार धनतेरस का फिर से है आया  सबके लिए है 
खुशियां लाया भगवान् गणपति विराजे घर आपके 
जीवन में हो सदा सुख कि छाया “हैप्पी धनतेरस !!”



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दिनों दिन बढ़ता जाए आपका कारोबार; 
परिवार में बना रहे स्नेह और प्यार; 
होती रहे सदा आप पर धन कि बौछार;
 ऐसा हो आपका धनतेरस का त्योहार। “हैप्पी धनतेरस!”

P✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


धनतेरस का प्यारा त्योहार; 
जीवन में लाए खुशियां आपार; 
माता लक्ष्मी विराजे आपके द्वार; 
सभी मनोकामनाएं आपकी करें स्वीकार। 
“हैप्पी धनतेरस!”

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


इस धनतेरस पर कुछ ख़ास हो; 
दिलों में खुशियां घर में सुख का वास हो; 
हीरे मोती पर आपका ताज हो; 
मिटे दूरियां सब आपके पास हों; 
ये धनतेरस आपके लिए ख़ास हो
। हैप्पी धनतेरस!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


जिसमे याद ना आए वो तन्हाई किस काम की बिगड़े रिश्ते ना बने तो खुदाई किस काम की.....!!! 
बेशक इंसान को ऊंचाई तक जाना है….....!!! 
पर जहा से अपने ना दिखे वो उँचाई किस काम की….....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


बहुत खूब सूरत है आखै तुम्हारी इन्हें बना दो किस्मत हमारी हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


उसके इंतजार के मारे है हम.....!!!.....!!! 
बस उसकी यादों के सहारे है हम… दुनियाँ जीत के कहना क्या है अब.....!!!.....!!!?? 
जिसे दुनियाँ से जीतना था आज उसी से हारे है हम.....!!!.....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


हर सपना खुशी का पूरा नहीं होता...?? 
कोई किसी के बिना अधुरा नहीं होता...??
 जो रोशन करता है सब रातों को...?? 
वो चाँद भी तो हर बार पूरा नहीं होता



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


आपकी जुदाई भी हमें प्यार करती हैं … …??
आपकी याद बहुत बेकरार करती हैं .....!!!.....!!! 
जाते जाते कहीं भी मुलाकात हो जाये आप से … 
तलाश आपको ये नज़र बार बार करती हैं ……??

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


दोस्तों की कमी को पहचानते हैं हम दुनिया के गमो को भी जानते हैं हम आप जैसे दोस्तों का सहारा है तभी तो आज भी हँसकर जीना जानते हैं हम


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है! 
एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है!
 लगने लगते है अपने भी पराये! 
और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


उनकी मोहब्बत का अभी निशान बाकी हैं ……?? 
नाम लब पर हैं मगर जान अभी बाकी हैं …… …??
क्या हुआ अगर देख कर मूंह फेर लेते हैं वो….....!!!
 तसल्ली हैं कि अभी तक शक्ल कि पहचान बाकी हैं ……??

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


अजीब तमाशा है मिट्टी के बने लोगों का यारो...?? 
बेवफ़ाई करो तो रोते है और वफ़ा करो तो रुलाते है……??

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


सोचा था इस कदर उनको भूल जाएँगे...?? 
देखकर भी अनदेखा कर जाएँगे...?? 
पर जब जब सामने आया उनका चेहरा...?? 
सोचा एस बार देखले...?? अगली बार भूल जाएँगे……??

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


सभी नगमे साज़ मैं गाये नहीं जाते …??
सभी लोग महफ़िल मैं बुलाये नहीं जाते … …??
कुछ पास रह कर भी याद नहीं आते ……??
 कुछ दूर रह कर भी भुलाये नहीं जाते ……??



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


एक सच्चा दिल सब के पास होता हैं ! ...?? 
फिर क्यों नहीं सब पे विश्वास होता हैं !! 
इंसान चाहे कितनो भी आम हो….....!!!! 
वो किसी न किसी के लिए जरुर खास होता हैं !!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते...?? 
बिन कहे भी जी नहीं सकते...?? 
ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना...?? 
कि वो खुद हम से आकर कहे कि...?? 
हम आपके बिना जी नही सकते.....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


जब आंसू आए तो रो जाते हैं...?? 
जब ख्वाब आए तो खो जाते हैं...?? 
नींद आंखो में आती नहीं...?? 
बस आप ख्वाबो में आओगें...??
यही सोच कर सो जाते हैं.....!!!

✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎


रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हम ने ...??
 कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने...?? 
हाँ !!! मालूम हैं क्या चीज़ हैं मुहब्बत यारो ...??
 अपना ही घर जल कर देखें हैं उजाले हमने …

काश फिर वो मिलने कि वजह मिल जाएँ …
 साथ वो बिताया  वो पल मिल जाये चलो अपनी 
अपनी आँखें बंद कर लें क्या पता खाव्बों मैं गुजरा हुआ कल मिल जाएँ.....!!!.....!!!.....!!!


✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎



गम ने हसने न दिया...?? ज़माने ने रोने न दिया.....!!!.....!!!
 इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
 थक के जब सितारों से पनाह ली! 
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!



✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎✎

No comments:

Post a Comment