Maut Shayari for All



रूह ए इश्क़ का अंजाम तो देखो ....!!!
अपनी मौत का पैगाम तो देखो....!!!
खुदा खुद लेने आया है जमीन पर....!!!
ये टूटे दिल का इनाम तो देखो....!!!



जिंदगी तो हमेशा से ही....!!! 
बेवफा और ज़ालिम होती है मेरे दोस्त....!!!
बस एक मौत ही वफादार होती है....!!!
जो हर किसी को मिलती है....!!!

कशिश तो बहुत है मेरे प्यार में....!!!
लेकिन वो पत्थर दिल पिघलता नहीं....!!!
अगर मिले खुदा तो माँगूंगी उसको....!!!
मगर ख़ुदा मरने से पहले मिलता नहीं....!!!


कितना दर्द है दिल में दिखाया नहीं जाता....!!!
किसी की बर्बादी का किस्सा सुनाया नहीं जाता....!!!
एक बार जी भर के देख लो इस चेहरे को....!!!
क्योंकि बार बार कफ़न उठाया नहीं जाता....!!!



दिले ख्वाहिश जनाब कोई उनसे भी तो पूछे....!!!
ख्वाहिश में जरुर वो मेरी मौत ही मांगेंगे देखना....!!!

No comments:

Post a Comment